Pages

Sunday, March 13, 2011

मैंने सोचा था ...!!

मैंने सोचा था ...!!
आज आप आयेंगे...
तो रो दूंगी .....!!!

आप पूछेंगे
तो सब हाल कह दूंगी
कह दूंगी कि
कितने दिन हुए
सोयी नहीं......!!

वो कौन सी
भूल है जो हुई नहीं...

किताब फ्रिज में
सेल्फ में गिलास रखा
मंगलवार था...
चिट्ठी में
रविवार लिखा......!!

सहेली से
शिकवा करना था...
उसे धन्यवाद कहा.....!!!

टीo वी0 पे गीत थे
भजन नहीं...
मैंने चौंक के
सर पर पल्लू रखा....!!

क्या हाल कर दिया है मेरा
मुझे किसी काम का ना रखा

और
जब आप ने पूछा
तो मैं इतना ही कह सकी
"मैं ठीक हूँ".....!!!!

1 comment:

  1. hmm nice..aisa mere saath bhi hota hai..or mai bhi thik hu:)

    ReplyDelete