Pages

Thursday, March 3, 2011

ये भी मत समझना


..तुम ऐ मत समझना,
कि तुम्हारे बगैर जी नहीं सकते.....
बस तुम पास न हो,
तो साँस रुक जाती है....!!!


तुम ऐ भी मत समझना ,
कि तुमसे मोहब्बत है मुझे
बस तुम साथ न हो तो,
कुछ अच्छा नहीं लगता...!!!

तुम ऐ मत समझना,
कि तुमसे कोई रिश्ता है मेरा
बस तुमको दुःख हो तो,
मेरी आँखे नम हो जाती हैं....!!!


तुम ऐ भी मत समझना ,
...कि तुम मेरी जान हो
बस तुम दिल की धड़कन हो,
......और कुछ भी नहीं.....!!!


तुम कभी ये भी मत समझना
कि कभी मै भूल गया तुम्हे,
बस सांसे रुक गई होंगी मेरी,
...........और कुछ भी नहीं...!!!

1 comment: