Pages

Saturday, April 23, 2011



तू क्या जाने
...पगली कोयल ...!!!
कौन मुझे
तड़पाता है......?
जागी सोई आँखों वाला
दिल में
उतरता जाता है ....!!!

कितने कोमल कोमल
चेहरे
मेरी राह में आये हैं....
लेकिन वो
मासूम सा चेहरा                       
सपनो में आ जाता है ........!!!

उसका दर्द
छुपा  कर दिल में
गज़ले
लिखता रहता हूँ....
हर मोसम की पहली बारिश
उसकी खुशबू लाती है
बाद-ऐ-शबा का
हर एक झोंका
उसकी याद दिलाता है......!!

तू क्या जाने....?
............पगली कोयल...!!!!!

कौन मुझे तड़पाता है.....?





 

No comments:

Post a Comment