Pages

Tuesday, May 24, 2011

तेरी आँखे उदास करती है....!!!



भीगी रातों में अक्सर...

पलकों पे अश्को के

चिराग सजा कर.....

आज भी 

न जाने क्यूँ.... 
तुझे,

आखें तलाश करती हैं..

तेरी आँखे 

उदास करती है....!!!

 
तन्हाइयों के 

दस्त -ए- वीरान में 

चाहतें,

दामन में समेटे 

वस्ल के

पुर नूर लम्हों में 

किसी 

मिलन की आस लेकर 

तुझे 

हसरतें तलाश करती हैं ......!!!




...तेरी आँखे 

उदास करती है.....!!!!




  

 







Sunday, May 22, 2011

कैसे हो....???


दिल में 
दर्द समाने वाले....
कैसे हो......???

मुझको 
छोड़ के जाने  वाले .....
कैसे  हो....??? 

नीद नहीं  आती
मुझको रातों में.......
मेरी 
नींद चुराने वाले..... 
कैसे हो.......???

मैंने,
खुद से बढ़ कर 
तुमको चाहा है........

चाहत को 
ठुकराने वाले .......
कैसे हो........????


वादा 
किया था तुमने 
साथ निभाने का.......
  
वादा 
तोड़ के जाने वाले ......
कैसे हो....???





Sunday, May 15, 2011

हर शख्श मोहब्बत करता है.....!!!




अल्फाज के
झूठे बंधन में
गरज के 
गहरे पर्दों में ....
हर शख्श मोहब्बत करता है.....!!!


हालाँकि
मोहब्बत कुछ भी नहीं
सब  
झूठे रिश्ते-नाते है
सब
दिल रखने की बातें हैं ....!!!


कब ,
कौन किसी का होता है....?

सब
असली रूप छुपाते हैं ...
अहसास से
खाली लोग यहाँ
लफ्जों के
तीर चलाते हैं .........!!!
एक बार नजर में आकर वो
फिर सारी उम्र रुलाते  है.....!!!

ये
इश्क- मोहब्बत ,मेहर-ओ-वफ़ा
सब
रस्मी -रस्मी बातें हैं .....!!!


हर शख्श
खुद ही की मस्ती में............

"बस अपनी खातिर जीता है".........!!!!!!











 

Monday, May 2, 2011

....बिछड़ने वाले ....!!!



....बिछड़ने वाले ....!!!
मुझ से बिछड़ने वाले सुन....!!!

मेरे बिस्तर  से
उतार  दुःख मेरे ...!!!
मैंने
एक उम्र इसी बिस्तर पे
अपनी
नीदों से किनारा कर के
तेरी नींदों की
हिफाज़त की है....!!!

आज
आसाब ..शिकस्ता हैं मेरे
नींद भी
जिद पे उतर आई है....
मै,
जो हर रात तेरे पहलू में
एक करवट पे
पड़ा रहता था.........
आज
आसूदा.....बदन सोने दे......!!!
आज की रात ...
सिर्फ आज की रात
पूरे बिस्तर पे मुझे
सोने दे......


मुझ से बिछड़ने  वाले सुन.....!!!!!!