Pages

Sunday, August 11, 2013

कोई सुनेगा .. तो क्या कहेगा ....???



किसी की खातिर              


करार खोना ...?

कोई सुनेगा ..
तो क्या कहेगा ....???

ये रातों को अक्सर
उठ उठ के रोना ..

कोई
सुनेगा 
तो
क्या कहेगा ...???

भंवर में मुझको
छोड़ आते
तो अपनी
उल्फत का राज़ रहता ..
साहिल पे आके
यूँ डुबोना ....?

कोई सुनेगा
तो क्या कहेगा ...???

जमाना

हुश्न शबाब का है ...
हसीन ख्वाबों
खयाल का है ...
ये शब् बरबादी
ये दिन का सोना ...?

कोई सुनेगा
तो क्या कहेगा ....???..

कहा जो मैंने

दर खुदा से .
दिल मेरा तुम दुखा रहे हो ..
वो बोले हंस के
चुप रहो ...

कोई सुनेगा
तो क्या कहेगा ....???

No comments:

Post a Comment