Pages

Wednesday, May 24, 2017

वो अक्सर मुझसे कहती थी ...!

वो अक्सर मुझसे कहती थी 
"वफ़ा है. जात औरत की "

गर जो मर्द होते हैं 
.... बहुत बेदर्द होते हैं ...!!!

मगर फिर यूँ हुआ ---
मुझे  अनजान रास्ते पर 
अकेला छोड़ कर उसने 
मेरा दिल तोड़ कर उसने 
मोहब्बत छोड़ दी उसने ..!!!

वफ़ा है जात औरत की 
ये .. 
"रिवायत" तोड़ दी उसने .....!!!

No comments:

Post a Comment